कालसर्प दोष महापूजा त्रयंबकेश्वर

Pandit Mukesh shastri is an astrology and pandit avam kaal sarp dosh visheshagya business established in 1998. It is located in Trimbakeshwar, Nashik. The business offers services such as astrology, pandit avam kaal sarp dosh visheshagya, and other related services.

Download My Digital ID
Mukesh Shastri

Our Service

नारायण नागबली पुजा कालसर्प दोष महापूजा त्रयंबकेश्वर Arjuneshwar Ashram Trimbakeshwar
नारायण नागबली पुजा

पितृ दोष या पितृ शाप को मिटाने के लिए ( पूर्वजो के असंतुष्ट इच्छाओ को पूरा करने के लिए) नारायण बली पूजा करते है, तथा साँप को मारने के पाप से छुटकारा पाने के लिए नागबली पूजा की जाती है। इस पूजा प्रक्रिया में, गेहूं के आटे से बने साँप के शरीर पर अंतिम संस्कार किया जाता है।

कालसर्प शांति कालसर्प दोष महापूजा त्रयंबकेश्वर Arjuneshwar Ashram Trimbakeshwar
कालसर्प शांति

कालसर्प दोष मुख्यतः रूप से नकारात्मक ऊर्जाओं से संबंधित है, जो मनुष्य के शारीरिक, और मानसिक स्थिति को प्रभावित करता है। यह कालसर्प पूजा वैदिक शांति के अनुसार ही करनी चाहिए।

पित्र शांति त्रिपिंडी कालसर्प दोष महापूजा त्रयंबकेश्वर Arjuneshwar Ashram Trimbakeshwar
पित्र शांति त्रिपिंडी

पित्र शांति त्रिपिंडी जिसे काम्य श्राद्ध भी कहा जाता है, यह श्राद्ध आत्माओं की स्मृति में अर्पित किया जाता है। आत्माओं को शांत करने के लिए यह पूजा मुख्य रूप से की जाती है। त्रिपिंडी श्राद्ध यह अनुष्ठान पिछली तीन पीढ़ियों के पूर्वजो के स्मृति में किया गया पिंड दान है।

मंगल दोष कालसर्प दोष महापूजा त्रयंबकेश्वर Arjuneshwar Ashram Trimbakeshwar
मंगल दोष

मांगलिक" (Manglik) स्थति विवाह के लिए अत्यंत विनाशकारी मानी गयी है | संबंधो में तनाव, कार्य में असुविधा तथा नुक्सान और व्यक्ति की असामायिक मृत्यु का कारण मंगल को माना गया है | मंगल पूजा के द्वारा मंगल ग्रह को प्रसन्न किया जाता है,तथा उसके विनाशकारी प्रभावों को नियंत्रित किया जाता है, तथा सकारात्मक प्रभावों को बढ़ाया जाता है |

नक्षत्र शांति कालसर्प दोष महापूजा त्रयंबकेश्वर Arjuneshwar Ashram Trimbakeshwar
नक्षत्र शांति

गंड मूल नक्षत्रों के बुरे प्रभावों को कम करने के लिए हम गंड मूल नक्षत्र शांति पूजा करते हैं । आचार्य द्वारा मानक अभ्यास के अनुसार, यह कहा जाता है कि बच्चे के जन्म के 27 दिनों के भीतर गंड मूल नक्षत्र शांति की जानी चाहिए।

महामृत्युंजय यज्ञ जप कालसर्प दोष महापूजा त्रयंबकेश्वर Arjuneshwar Ashram Trimbakeshwar
महामृत्युंजय यज्ञ जप

हिंदू धर्म में भगवान् शिव को सबसे शक्तिशाली देवता मन जाता है। भगवान् शिव की महामृत्युंजय जाप से साधना करना अधिक लाभकारी है। महामृत्युंजय मंत्र सभी बाकि संस्कृत मंत्रो के तुलना में अधिक प्रचलित है। यह मंत्र "रूद्र मंत्र " या "त्र्यंबकम मंत्र" के रूप में भी जाना जाता है।

रुद्र अभिषेक कालसर्प दोष महापूजा त्रयंबकेश्वर Arjuneshwar Ashram Trimbakeshwar
रुद्र अभिषेक

रूद्र अभिषेक यह सर्वोच्च देवता भगवान शिव को समर्पित धार्मिक अनुष्ठान है, जो शक्तिशाली मंत्रो की उच्चारण द्वारा किया जाता है। रूद्र अभिषेक भगवन शिव को समर्पित करने वाले व्यक्ति की सभी इच्छाए पूरी होती है।

वास्तु शांति कालसर्प दोष महापूजा त्रयंबकेश्वर Arjuneshwar Ashram Trimbakeshwar
वास्तु शांति

वास्तु शास्त्र में सृष्टि के पांच मुख्य तत्वों को बहुत महत्व दिया गया है. आकाश, पृथ्वी, जल, अग्नि और वायु पंच तत्व हैं. वास्तु शांति में इन पांच तत्वों और सभी दिशाओं की शांति करवाई जाती है. जिससे हर तरह के वास्तु दोष के प्रभाव को दूर किया जा सके. वास्‍तु शांति पुराने घर, ऑफिस के वास्‍तु दोषों को दूर करने के लिए कराई जाती है.

एस्ट्रोलॉजी कंसल्ट कालसर्प दोष महापूजा त्रयंबकेश्वर Arjuneshwar Ashram Trimbakeshwar
एस्ट्रोलॉजी कंसल्ट

वैदिक ज्योतिष ज्योतिष विज्ञान का एक विशाल महासागर है, जिसमें भौतिक और आध्यात्मिक विज्ञान दोनों एक साथ घटित होते हैं। वैदिक ज्योतिष, वैदिक ज्योतिष परामर्श का सबसे प्राचीन और नवीन रूप है जो हजारों साल पहले उभरा और अभ्यास किया जाना शुरू हुआ। वैदिक ज्योतिष सबसे पहले भारतीय उपमहाद्वीप में अस्तित्व में आया और धीरे-धीरे अन्य देशों और संस्कृति में फैल गया।

Business Hours

Monday
12:00 AM - 12:00 AM
Tuesday
12:00 AM - 12:00 AM
Wednesday
12:00 AM - 12:00 AM
Thursday
12:00 AM - 12:00 AM
Friday
12:00 AM - 12:00 AM
Saturday
12:00 AM - 12:00 AM
Sunday
12:00 AM - 12:00 AM

Enquiries